टॉम क्रूज के पास मोबाइल नहीं हैं जाने क्यों!!!Tom cruies does not have mobile, why not?

टॉम क्रूज के पास मोबाइल नहीं हैं जाने क्यों!!!Tom cruies does not have mobile, why not?


दुनिया के सबसे सफल लोग मोबाइल का बहुत ही सीमित इस्तेमाल कर रहे हैं। इसके बावजूद ये सभी लोग अपने अपने क्षेत्र में लीडर हैं। दुनिया में तीसरे सबसे अमीर शख्स वॉरेन बफे तो अब भी फीचर फोन का ही इस्तेमाल कर रहे हैं।  इतना ही नहीं, अमेरिका की सिलिकॉन वैली, जहां दुनियाभर की दिग्गज टेक्नोलॉजी कंपनियों के दफ्तर हैं, रहने वाले  लोग अपने बच्चों की परवरिश टेक्नोलॉजी से दूर रखते हुए कर रहे हैं। वहां एक नया ट्रेंड उभर रहा है। बच्चों को वॉल्डर्फ  जैसे नॉन टेक्नो स्कूलों में भेजा जा रहा है। जहां कंप्यूटर के बजाय किताबों पर अनुभव आधारित शिक्षा का जोर है। यानी ओल्ड स्कूल  लर्निग की ओर लौट रहे हैं। दुनिया की ऐसी और भी सफल शख्सियत हैं, जो बड़े से बड़ा काम संभालने के बाद भी टेक-फ्री लाइफ जी रही हैं।

ये दुनिया के ऐसे सफल व्यक्ति हैं ,जो अपने जीवन में मोबाइल या गैजेट्स को सबसे जरुरी वस्तु नहीं मानते हैं....
#वॉरेन बफे, इन्वेस्टर

हर साल टिम कुक आईफोन लेने का आग्रह करते हैं, लेकिन बफे अपने फीचर फोन से ही खुश

वॉरेन बफे की कंपनी बर्कशायर
हैथवे एपल की पांचवीं सबसे बड़ी
शेयरहोल्डिंग कंपनी है। लेकिन बफे खुद फीचर फोन ही इस्तेमाल करते हैं। एपल के सीईओ टिम कुक उनसे हर साल आग्रह करते हैं कि- आईफोन ले लीजिए। हर बार बफे इस आग्रह को ठुकरा देते हैं।बफे ने जिंदगी में सिर्फ एक बार ई-मेल का इस्तेमाल किया है।वे सहकर्मियों से सीधा संवाद करने में ही भरोसा रखते हैं।


#स्टीव जॉब्स, को-फाउंडर, एपल


इन्होंने दुनिया को आईफोन-आईपैड दिया, पर बच्चों को कभी  उसे हाथ तक लगाने नहीं दिया।



स्टीव जॉब्स ने जब 2010 में आईपैड लॉन्च  किया  था,  तो  डेढ़  घंटे  तक इसके  फायदे   गिनाए   थे।   लेकिन जॉब्स ने अपने बच्चों को ये डिवाइस कभी  नहीं  इस्तेमाल  करने  दिए। जॉब्स  ने  घर  पर भी  टेक्नोलॉजी  के इस्तेमाल की सीमा तय कर रखी थी। एडम अल्टर ने अपनी किताब ‘इररेजिस्टिबल' में लिखा है- स्टीव जॉब्स को ये अंदाजा था कि जब कोई  इंसान स्मार्टफोन का लती हो जाता है तो  समाज से दूर होता जाता है।


#बिल गेटस, फाउंडर, माइक्रोसॉफ्ट



बच्चों को मोबाइल से दूर रखा, बेटी वीडियो गेम एडिक्ट होने लगी तो स्क्रीन टाइम की पाबंदी लगाई

बिल गेट्स ने अपने बच्चों को 14 की उम्र तक मोबाइल नहीं दिया था। इतना ही नहीं, 2007 में जब बिल गेट्स की बेटी वीडियो गेम खेलने के प्रति एडिक्ट होने लगी थी
तो उन्होंने घर पर बच्चों के लिए स्क्रीन टाइम की लिमिट तय कर दी।
गेट्स के घर का नियम है कि खाने की टेबल पर कोई भी बच्चा या बड़ा मोबाइल का इस्तेमाल नहीं कर सकता। बिल गेट्स रात को खाना खाते वक्त बच्चों से सिर्फ इतिहास और नई किताबों पर ही चर्चा करते हैं।


#मुकेश अंबानी, चेयरमैन, रिलायंस
भारत में सस्ता 4जी लेकर आए पर  सार्वजनिक जगहों पर कभी मोबाइल इस्तेमाल करते नहीं देखे जाते।
मुकेश अंबानी देश में 4जी नेटवर्क की क्रांति लाए थे। उन्होंने जियोफोन के कई मॉडल लॉन्च किए। इसके बावजूद मुकेश को सार्वजनिक जगहों पर कभी मोबाइल इस्तेमाल करते नहीं देखा गया।गूगल सर्च में भी उनकी  ऐसी कोई तस्वीर नहीं मिली। मुकेश बताते हैं कि वो हर रविवार को मां और परिवार के साथ वक्त बिताते हैं। मुकेश अपने हर गैजेट को अपडेट तो रखते हैं, लेकिन साथ ही उसके इस्तेमाल के लिए लिमिट भी तय कर रखी है।

#टॉम क्रूज, हॉलीवुड एक्टर 
37 साल से एक्टर, 25 साल सेप्रोड्यूसर; पर मोबाइल नहीं रखते, हर कॉल असिस्टेंट अटेंड करते हैं।
हॉलीवुड एक्टर टॉम क्रूज मोबाइल नहीं रखते। 2017 में आई द रिचलिस्ट की एक रिपोर्ट के अनुसार टॉम ने कभी ईमेल आई डी तक नहीं बनाई। वे कहते हैं- ‘काम के बाद जो भी वक्त मिलता है, वो मैं परिवार और दोस्तों के साथ ही बिताता है; फोन पर नहीं।' टॉम क्रूज के सारे पर्सनल और बिजनेस कॉल्स उनके असिस्टेंट ही हैंडल करते हैं। हॉलीवुड में उन्हीं की तर्ज पर एल्टन जोन, सराह जेसिका पाकर जैसी हस्तियां भी मोबाइल फोन नहीं रखती हैं।
Thanks for reading!!!